भरूच के खोबला गांव में रहने वाली मानवी उर्फ योगेश ने सेक्स चेंज कराकर अपने शरीर में बदलाव किया। मानवी ने परिवार के डर अपने जीवन के तीस साल लड़का बनकर बिताए। हाई सेकेंडरी एवं महाविद्यालय की पढाई मानवी ने योगेश बन कर ही दी। लेकिन अपने शरीर के बदलाव को देखते हुए उन्होंने सेक्स चेंज कराकर लड़के से लड़का बनना पसंद किया।

मानवी ने कहा की जब मेरा जन्म हुआ था तो में एक लड़का था, लेकिन कुछ समय बाद मेरे शरीर और व्यवहार में कई तरह के बदलाव होने लगे। मुझे जींस -शर्ट से कही ज्यादा अच्छा स्कर्ट पहनना पसंद था। मेरी इन हरकतों से मेरे परिवार वाले काफी परेशान रहते थे। परिवार का दबाव होने से में कभी भी खुल कर उनसे बात नहीं कर पाई। मेने अपने जीवन के तीस साल लड़का बन कर बिताए लेकिन में शरीरिक रूप से लड़की थी।

मानवी के शरीर में 4-5 साल की उम्र से ही बदलाव होने लग गाए थे। मानवी इस समय वडोदरा में लक्ष्य ट्रस्ट में मैनेजर के रूप में कार्यरत है। मानवी किन्नर नहीं बनना चाहती थी। में माँ बनना चाहती हु समाज की उन उचाईयो को छूना चाहती हु जिनकी में हक़दार हु। मेने अपना सेक्स चेंज करवाने के लिए पिछले दो साल से हॉर्मोंस की दवा ले रही थी।

Advertisement

Loading...