स्माइली का रंग क्यों होता है पीला

वैसे तो स्माइली का यूज हम कई समय से करते आ रहे है लेकिन जब से वाट्सएप और फेसबुक चैट हमारी लाइफ में आए है जब से तो स्माइली का यूज दिन-पे-दिन पड़ता ही जा रहा है क्योकि इस में अक्सर यूजर अपनी फीलिंग्स को बयां करने के लिए वर्ड की जगह पर स्माइली वाली इमेज का यूज करते है लेकिन इसका यूज करते टाइम में आप ने कभी यह सोचा है की इनका कलर पीला ही क्यों होता है और नहीं सोचा है तो सोचिए और हमारे इस आर्टिकल को पढ़िए आपको सब समझ में आ जाएगा तो आइये जानते है की आखिर क्यों इनका कलर पीला ही रखा गया है.

स्माइली और इमेज की शुरुआत

पहला स्माइली इमेज कोलन :: और ब्रैकेट –() से स्टार्ट हुआ था फिर टाइम और बढती टेक्नोलॉजी के चलते यह भी बढ़ते चले गए जिसमे से वाट्सएप पर 800 से भी अधिक इमेज है और फेसबुक पर तो इसकी एक अलग ही रेज बनी हुई है.

वही स्विफ्ट मीडिया ने स्माइली और इमोजी पर स्टडी भी की है जोकि एक मोबाइल इंगेज्मेंट प्लैटफॉर्म पर है और दुबई में लाइट हाउस अरेबिया के डायरेक्टर क्लिनकल सायकोलॉजिस्ट डॉ.सालिहा अफरीदी का तो यह भी कहना है की जब कोई चेहरें और शरीर से अपने इमोशन को बंया नहीं कर पाता है तो उस टाइम में इमोजी बहुत ही सरल और सही साबित होती है किसी के इमोशन को बंया करने के लिए.

स्माइली का कलर पीला क्यों है 

हालाँकि इसके पीछे का कोई एक कारण नहीं है क्योकि इस के कई कारण बताएं गए है जी हाँ जैसे की कोरा के कुछ लोगो का कहना है की पीला रंग स्किन टोन से मैच होता है इस लिए स्माइली और इमोजी पीले रंग के होते है.

और कुछ लोगो का कहना है की यह मुस्कुराते और खिलखिलाते हुए चेहरें मिडिया में हमेशा ही पीले रंग के दिखाई देते है इस लिए इनका कलर पीला होता है इस के साथ ही स्टिकर्स हो या बैलून उनका कलर भी ज्यादातर पीला ही होता है क्योकि यह कलर ख़ुशी का प्रतीक भी माना जाता है वही यह तर्क भी पाया गया है की पीला रंग बैकग्राउंड पर चेहरे के भाव साफ-साफ दिखाई देते है और इस रंग पर चीजे भी तो खिलकर सामने आती है.

Leave A Reply

Your email address will not be published.