8 Tips: कम्प्युटर हैक होने का पता कैसे लगाएँ, Hack होने पर क्या करें?

जो लोग कम्प्युटर का इस्तेमाल करते हैं. वो अपने कम्प्युटर में ढेर सारा डाटा रखते हैं जो पर्सनल भी होता है. ऐसे में उन्हें हमेशा ये डर होता है की कहीं कोई उनका कम्प्युटर हैक न कर ले. कोई उनके डाटा को चोरी न कर ले. इसलिए वो कम्प्युटर को हैक होने से रोकने के लिए कई तरीके अपनाते हैं. वैसे इसके तरीके अपनाना अच्छी बात है लेकिन आप ये कैसे पता करेंगे की आपका कम्प्युटर हैक है या नहीं है. दरअसल कम्प्युटर के हैक होने का पता करने के लिए आपको कुछ टिप्स ध्यान रखना चाहिए.

कम्प्युटर हैक है कैसे पता लगाएँ?

अगर आप इन्टरनेट का इस्तेमाल कर रहे हैं तो आपका कम्प्युटर हैक होना कोई बड़ी बात नहीं है. दरअसल इसमें आपकी भी कोई गलती नहीं होती है. कभी-कभी अनजाने में हम कुछ ऐसी चीजों पर क्लिक कर देते हैं जिनसे हैकर को हमारा कम्प्युटर हैक करने का मौका मिल जाता है. वैसे आप चाहे तो खुद इस बात का पता लगा सकते हैं की क्या आपका कम्प्युटर हैक हो चुका है? इसके लिए आपको निम्न टिप्स ध्यान रखना चाहिए.

1) हैकर जब भी आपके कम्प्युटर को हैक करेगा सबसे पहले आपके कम्प्युटर का एंटीवायरस बंद करेगा. अगर आपको अचानक से आपका एंटीवायरस बंद मिले जिसे आपने बंद न किया हो तो समझ लेना की ये आपके कम्प्युटर या लैपटाप हैक करने की निशानी है.

2) आपके कम्प्युटर में इन्टरनेट पर कई सारे अकाउंट आप लॉगिन करके रखते हैं. अगर आपको कभी लगे की आपके किसी अकाउंट का पासवर्ड चेंज हो गया है जिसे आपने चेंज नहीं किया तो आपको ये समझ जाना चाहिए की हैकर ने आपका कम्प्युटर या आपका अकाउंट हैक कर लिया है. अधिकतर केस में यही होता है की हैकर अकाउंट हैक करने के बाद अकाउंट का पासवर्ड बदल देता है.

3) आपके कम्प्युटर में वैसे तो ढेर सारे सॉफ्टवेयर रहते हैं लेकिन आप इन सॉफ्टवेयर के बारे में जानते हैं और इनका उपयोग भी करते हैं. लेकिन अगर आपके कम्प्युटर में आपको कोई ऐसा सॉफ्टवेयर नजर आये जिसे आपने नहीं इन्स्टाल किया है तो समझ लीजिये की आपके द्वारा किसी गलत लिंक पर क्लिक करने की वजह से हुआ है और ये हैकर का आपके कम्प्युटर को हैक करने के लिए बिछाया हुआ जाल है. इसे तुरंत Uninstall करें. इसके लिए आप Control panel>uninstall a program पर जाएँ.

4) अगर आपके कम्प्युटर में आपका प्रिन्टर सही ढंग से काम नहीं कर रहा है, प्रिंट करने में कोई एरर दे रहा है या फिर ठीक से प्रिंट नहीं कर रहा है तो ये इस बात की तरफ इशारा करते हैं की किसी ने आपका कम्प्युटर हैक कर लिया है.

5) आपने कई बार इन्टरनेट चलते समय एक चीज नोटिस की होगी की आपके internet browser में अपने आप ही कुछ unknown website खुल जाती है. आप कोई और चीज खोलना चाहते हैं लेकिन खुलता कुछ और है. तो हो सकता है की आपके कम्प्युटर में spyware, adware या ट्रोजन आ गया हो. ये सीधे तौर पर हैकिंग की तरफ इशारा करते हैं.

6) अगर आपके कम्प्युटर में वेबकेम लगा हुआ है और वो बार-बार अपने आप बंद चालू हो रहा है या फिर उसकी लाइट ऑन-ऑफ हो रही है तो इसका मतलब है की कोई हैकर वेबकेम की मदद से आप पर नजर रखे हुए है.

7) अगर आपके कम्प्युटर में कोई ऐसा सॉफ्टवेयर या प्रोग्राम इन्स्टाल होने की अनुमति मांग रहा है जिसके बारे में आप नहीं जानते या फिर आपने उसे इन्स्टाल नहीं किया है तो ऐसे प्रोग्राम या सॉफ्टवेयर से बच कर रहें. इन्हें कभी भी अनुमति न दे. ये आपके कम्प्युटर को हैक कर सकते हैं.

8) पहले आपके कम्प्युटर की स्पीड अच्छी चल रही थी अचानक से कम हो गई. ये बात इशारा करती है की कोई आपका कम्प्युटर हैक कर चुका है क्योंकि इस स्थिति में हैकर आपके कम्प्युटर के इन्टरनेट का इस्तेमाल करके आपकी जानकारी कहीं और ट्रांसफर कर रहा होता है ऐसे में आपको डाटा की स्पीड कम मिलती है क्योंकि वो स्पीड दो जगह पर विभाजित हो जाती है.

कम्प्युटर हैक होने पर क्या करें?

अगर आप इन्टरनेट चला रहे हैं तो अधिकतर चांस है की आपका कम्प्युटर या लैपटॉप हैक हो सकता है लेकिन आप इससे बच सकते हैं सिर्फ अपनी समझदारी के बल पर. आप चाहे तो इन्टरनेट चला कर भी अपने कम्प्युटर को हैक होने से बचा सकते हैं. इसके लिए आपको कुछ टिप्स ध्यान में रखना है.

1) सबसे पहले तो आप अपने कम्प्युटर के Control panel में जाए और फिर uninstall a program पर क्लिक करें. इसमें उन सभी सॉफ्टवेयर की लिस्ट आ जाएगी जो आपके कम्प्युटर में इन्स्टाल हैं. इसमें देखें की आपने किस सॉफ्टवेयर को इन्स्टाल नहीं किया था उसे तुरंत अनइन्स्टाल कर दें.

2) अगर आपको ये लग रहा है की आपका कम्प्युटर हैक हो गया है तो तुरंत अपने कम्प्युटर का task manager open करें और process पर क्लिक करें. यहाँ जाकर सभी unknown process को end कर दें.

3) अगर आपको ये लगता है की आपका कम्प्युटर हैक हो गया है तो आपको तुरंत अपनी सभी जरूरी फ़ाइल और डॉकयुमेंट का बैकप ले लेना चाहिए और उसे सेव करके किसी एक्सटरनल डिवाइस में रखना चाहिए.

5) कम्प्युटर में अच्छा एंटीवायरस जरूर होना चाहिए और उसे समय-समय पर स्कैन भी करते रहना चाहिए. इससे एंटी वायरस उन सभी फ़ाइल को स्कैन करके हटा देता है जो वायरस वाली होती है.

6) कम्प्युटर के हैक होने की शंका होने पर अपने सारे अकाउंट के पासवर्ड चेंज कर दें. आप उन सभी अकाउंट के पासवर्ड को चेंज करें जिन्हें आपने अपने कम्प्युटर से लॉगिन करके रखा है.

7) कम्प्युटर के हैक होने पर आप उसे रीसेट या फिर फॉर्मेट भी करवा सकते हैं.

कम्प्युटर का हैक होना कोई बड़ी बात नहीं है लेकिन इससे आपके डाटा का चोरी होना, आपकी पर्सनल फ़ाइल का गायब होना या फिर आपके कम्प्युटर का corrupt हो जाना नुकसानदायक होता है. इस स्थिति से बचने के लिए हमे इन्टरनेट चलते समय ध्यान रखना चाहिए की हम किसी भी ऐसी चीज पर क्लिक न करें जो हमारे काम की नहीं है या फिर जिसे हम जानते नहीं.

अगर हमसे उस पर क्लिक हो गया और वो डाउनलोड भी हो गई और तब हमे पता चला की ये हमारी काम की नहीं तो उसे तुरंत अनइन्स्टाल कर दें और अपने इन्टरनेट ब्राउज़र की हिस्ट्री को साफ करके अपने ब्राउज़र को रीसेट करें. इन तरीकों से आप काफी हद तक अपने कम्प्युटर को हैक होने से रोक सकते हैं.

कम्प्युटर को हैक करवाने और उसे रोकने दोनों के लिए आप ही जिम्मेदार होते हैं. आपकी एक चोटी सी गलती हैकर के लिए एक बड़ा दरवाजा खोल देती है और वो आसानी से आपके कम्प्युटर को हैक कर लेता है.

Computer Screen Record कैसे करें, Software की मदद से कैसे स्क्रीन रिकॉर्ड करें?

Computer Me Folder Lock Kaise Kare

Data Science Coures Kya Hai Kaise Banaye Apna Best Career

Part Time Side Business Idea Se Kamaye Jyda Paisa

Pen Drive में Lock या Password कैसे लगाएँ तथा हटाएँ?