इन स्त्रियों से विवाह नहीं करना चाहिए क्यों की ?

48

जीवन को सफल और सुगम बनाने के लिए मनुष्य आज भी वही पुरानी कूटनीति अपनाता है जैसे चाणक्य नीति आज भी लोगो को बेहतर जीवन जीने में सहायक सिद्ध हो रही है। चाणक्य ने जीवन को बेहतर बनाने के लिए कुछ महत्वपूर्ण नियमों का अनुसरण करने का उपदेश दिया था। जीवन को बेहतर और प्रभावी ढंग से जीने के लिए मनुष्य को अपने जीवन में कई महत्वपूर्ण बातो का ध्यान रखना आवश्यक होता है।

भूल कर भी न रखे पैर :-

मनुष्य अपने जीवन में कई छोटी छोटी बातो का ध्यान नहीं रखता और कुछ ऐसा कर जाता है जिसका खामियाजा उसे पुरे जीवन में भुगतना पड़ता है। चाणक्य ने अपने नियम में कहा है की मनुष्य को भूल कर भी ब्राम्हण, गुरु, अग्नि, गाय, कुंवारी लड़की,छोटे बच्चे,बूढ़े व्यक्ति को पैर नहीं लगाना चाहिए। ऐसा करने से मनुष्य के जीवन में कई परेशानियां आ जाती है जिसका मनुष्य को पता भी नहीं चलता है।

chanakya-formula-for-success (1)

ब्राम्हण और स्त्री का अनादर न करे :-

चाणक्य के अनुसार स्त्री संसार की सबसे खूबसूरत और ब्राम्हण दुनिया का सबसे बड़ा ज्ञानी होता है। इसलिए स्त्री की सुंदरता और ब्राम्हण के ज्ञान का कभी अनादर नहीं करना चाहिए।

chanakya-formula-for-success (4)

रूपवान स्त्री से न करे शादी :-

अधिकतर देखा जाता है की 95 प्रतिशत पुरुष सिर्फ स्त्री की सुंदरता और रूप को देखकर उनसे शादी करते है। लेकिन यह जरुरी नहीं होता है की रूपवान स्त्री ज्ञानवान भी हो इसलिए अपने जीवन में सिर्फ उसी स्त्री को लाए जो ज्ञानवर्धक हो।

इनसे मिलती है सफलता :-

जीवन में कभी भी किसी कार्य को प्रारम्भ करने से पूर्व हमें कब क्यों कैसे जैसे प्रश्नों को अच्छी तरह से जवाब ढूंढ लेना चाहिए। जब इन प्रश्नों के उत्तर हमारे पास नहीं होते है तो में निश्चित ही जीवन में असफलता प्राप्त होती है।

स्त्री बिना सोचे कर सकती है काम :-

अधिकतर देखा जाता है की पुरुष किसी काम को करने के बारे में दस बार सोचता है लेकिन स्त्री किसी काम को करने के लिए सोचती नहीं है जिसका उन्हें कई बार गलत परिणाम भी प्राप्त होता है। महिलाओं की यही सोच उन्हें कई परेशानियों में डाल देती है।

शराबी का मुंह बंद नहीं होता :-

चाणक्य के अनुसार शराबी की बोली तीर की तरह रदय को भेदती है। शराबी को किसी बात का अहसास नहीं होता है की वह क्या बोल रहा है और इसका क्या गलत परिणाम हो सकता है? शराबी को कितना भी कुछ कह लो उसकी बोली बंद नहीं होती है।

Comments are closed.