- - Advertisement - -

गरीब ही नहीं बल्कि UG और PG वाले भी मांग रहे है भीख!

अक्सर जब हम कई भी बाहर जाते है तो हमें कई भिखारी भीख मांगते दिखाई देते जब हमारे मन में एक ही ख्याल आता है की ये भिखारी अपनी गरीबी और अनपढ़ होने या लाचारी के कारण ही भीख मागते है और भीख माग कर ही अपना जीवन यापन करते है लेकिन यदि हम आपको यह बताए की यह गरीब और लाचारी के चलते जो भीख मागते है इन में से कई ऐसे लोग भी है जो कि काफी अच्छी पढाई किये हुए है. किसी ने ग्रेजुएट किया है तो किसी ने पोस्ट ग्रेजुएट फिर भी यह भीख मांग रहे है तो आप यह जान कर काफी हैरान हो जायेगे.

हमारे देश में कई भागो में जब इन गरीब और भिखारी को लेकर एक रिपोर्ट तैयार की गई तो कई ऐसे हैरान करने वाली बाते सामने आई की भारत में कम से कम 200 भिखारीयो के बीच में कुछ ऐसे भी भिखारी है जो कि केवल पढ़े लिखे ही नहीं बल्कि उनके पास कई अच्छी डिग्रियां भी मोजूद है. फिर भी यह सब भीख माग कर ही आपना जीवन यापन कर रहे है.

हमारे देश में इन भिखारियों की प्रोब्लम से निपटने के लिए सरकार ने कई केंद्र और राज्य सरकार ने कई कोशिश की है इन पढ़े लिखे भिखारियों को विशेषधारा में शामिल कर लिया जाये लेकिन इन भीखारियो ने सरकार की इस कोशिश को भी ना कामियाब कर दी क्योकि यह भिखारी अपने भीख मागने के काम के अलावा कोई और काम करने को राजी नहीं हो रहे है. भिखारियों का कहना है की वह किसी भी नौकरी से भी ज्यादा पैसा कमा लेते है तो फिर वह कोई और काम क्यों करे यह तक के पढ़े लिखे लोग भी भीख मागने से शर्म नहीं कर रहे है.

भिखारियों का कहना है की वह कोई अपनी मर्जी से भिखारी नहीं बने है बल्कि अच्छी पढाई लिखाई होने के बाद भी अपनी पसंद का कोई काम नहीं मिला इस लिए वो भिखारी बन गए.

- - Advertisement - -
Loading...
- - Advertisement - -