भारत देश के लिए 14 अप्रैल है, और यह भारत के इतिहास का वह ऐतिहासिक दिन है बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर का जन्म देश के एक गरीब परिवार में 14 अप्रैल सन 1891 को मध्यप्रदेश राज्य के छोटे से गाँव महू में हुआ. बाबासाहेब भीमराव आंबेडकर के पिता का नाम रामजी मालोजी सकपाल और माता का नाम भीमबाई था। भीमराव आंबेडकर हिन्दू धर्म की महार जाति से संबंध रखते थे. हिन्दू धर्म में मानव समाज को चार वर्णों ब्राह्मण, क्षत्रिय, वैश्य और शुद्र में बांटा गया हैं. 

महामानव भारतरत्न डॉ. बाबासाहेब अम्बेडकर जी ने अपना पूरा जीवन समाज के लिये लगा दिया, आज पूरी दुनिया उन्हें गर्व से याद करती है, जिन परिस्तिथि में उन्होनें संघर्ष किया.उनके विचार हमेशा बहुत आगे की उनकी सोच को दिखाते है. पढिए बाबासाहेब के कुछ श्रेष्ठ जो आपको एक सीमित सोच से बाहर निकल कर सोचने के लिए मजबूर कर देंगे..

- - Advertisement - -